पंचतन्त्र कहानियाँ ऑडियो में icon

पंचतन्त्र कहानियाँ ऑडियो में APK

The description of पंचतन्त्र कहानियाँ ऑडियो में

संस्कृत नीतिकथाओं में पंचतंत्र का पहला स्थान माना जाता है। यद्यपि यह पुस्तक अपने मूल रूप में नहीं रह गयी है, फिर भी उपलब्ध अनुवादों के आधार पर इसकी रचना तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व के आस- पास निर्धारित की गई है। इस ग्रंथ के रचयिता पं॰ विष्णु शर्मा है। उपलब्ध प्रमाणों के आधार पर कहा जा सकता है कि जब इस ग्रंथ की रचना पूरी हुई, तब उनकी उम्र लगभग ८० वर्ष थी। पंचतंत्र को पाँच तंत्रों (भागों) में बाँटा गया है:

मित्रभेद (मित्रों में मनमुटाव एवं अलगाव)
मित्रलाभ या मित्रसंप्राप्ति (मित्र प्राप्ति एवं उसके लाभ)
काकोलुकीयम् (कौवे एवं उल्लुओं की कथा)
लब्धप्रणाश (हाथ लगी चीज (लब्ध) का हाथ से निकल जाना (हानि))
अपरीक्षित कारक (जिसको परखा नहीं गया हो उसे करने से पहले सावधान रहें ; हड़बड़ी में कदम न उठायें)

आपको "पंचतंत्र कहानियाँ ऑडियो में" एप में मिलेंगे :-
1. सभी तंत्रों का विस्तृत वर्णन |
2. अगर आप पढना नहीं चाहते तो सुनने की सुविधा |
3. मनोहक धुनें |
4. और सबसे महत्त्वपूर्ण - आपको मिलेगा ये सब बिल्कुल मुफ्त | तो अभी डाउनलोड कीजिये "चाणक्य नीति ऑडियो" एप |

"पंचतंत्र कहानियाँ ऑडियो में" एप contains : -
Kids stories, Champak, Lion Stories, Cat, Dog, Monkey, Donkey, Farmer Stories, Entertainment, Kids love, childhood memories, Stories for everyone.

Disclaimer:

1. This app is a self-contained offline app with a part of the contents from public domain.
2. The purpose of app is to provide information and detailed description of "Panchtantra Stories by Vishnu Sharma". All the images and text contained in the app are collected from different internet sources. All the images are readily available in various places on the internet and are believed to be in the public domain. However, we do not claim ownership/copyright of material/media used in the app. We acknowledge that the respective copyright owners of the contents own the rights. If you own the right to any content in the app, please write to us at pr8432159@gmail.com with the copyright details of the original source, and the stated content will be removed immediately. No infringement intended.
Show More
Advertisement
Comment Loading...
Be the first to comment.
Popular Apps In Last 24 Hours
Download
APKPure App